Anupama 20 May 2022 written update | अनुपमा 20 मई 2022 लिखित अपडेट

Follow us on Google News

Anupama 20 May 2022 written update: आज के एपिसोड में अनुपमा कहती हैं कि सम्मान मायने रखता है। अनुज कहते हैं कि सम्मान के बिना प्यार भी मायने नहीं रखता। अनुपमा और अनुज ने फैसला किया कि वे लंबी शपथ नहीं लेने जा रहे हैं, बस एक-दूसरे के लिए ‘सम्मान’ प्राथमिकता होगी। दोनों एक दूसरे को हमेशा सम्मान देने का वादा करते हैं। हसमुक का कहना है कि उन्होंने ऐसी शादी कभी नहीं देखी। वह कहते हैं कि अनुपमा और अनुज की शादी में कोई कमी नहीं है। मीनू ने कहा कि वनराज गायब है।
समर का कहना है कि यह ठीक है। मीनू कहती है कि क्यों ठीक है जब हसमुक कहता रहता है कि परिवार पूरा है जब सब मौजूद हैं। वनराज प्रवेश करता है। शाह खुश हो जाते हैं। वनराज अनुपमा से कहता है कि उनके बीच जो कुछ भी हुआ उसके लिए उसे खेद नहीं है लेकिन आज वह नहीं लड़ेगा। वह कहता है कि काव्या सही थी।

Anupama 20 May 2022 written update

 

अनुज कहते हैं कि परिवार जटिल है लेकिन वे एक और दूसरे से बच नहीं सकते। वह कहते हैं कि मीनू सही थी। हर कोई एक पारिवारिक तस्वीर के लिए इकट्ठा होता है। देविका वनराज की तारीफ करती है। वह वनराज से कहती है कि हमेशा आज की तरह सज्जन बने रहो। देविका वनराज को जूस देती है। वनराज खुश हो जाता है।  ये रिश्ता क्या कहलाता है | Yeh Rishta Kya Kehlata Hai 20th May 2022 Written Update

समर, पाखी और परितोष अव्यवस्थित देखकर परेशान हो जाते हैं। अनुपमा और अनुज के देखने से पहले वे इसे ठीक कर देते हैं। बाद में, जीके अनुज के जूते की रक्षा करता है। पाखी, समर और परितोष का कहना है कि कोई भी जूता नहीं चुराता है बल्कि दूल्हे का मोबाइल छीन लिया जाता है। अनुज को अपना मोबाइल गायब मिला। पाखी, समर और परितोष हंसते हैं। परितोह कहते हैं कि आज के समय में मोबाइल हर किसी की प्राथमिकता है। अनुज कहते हैं कि केवल अनुपमा ही उनकी प्राथमिकता है। वह उनसे अपना मोबाइल वापस करने के लिए कहता है। किंजल अनुज से डील करने के लिए कहती है। वह अनुज से पैसे की मांग करती है। अनुज का कहना है कि वह अपना मोबाइल लेने के लिए कोई भी डील कर सकता है।

Anupama 20 May 2022 written update

आगे, अनुज और अनुपमा एक दूसरे के साथ शादी के बंधन में बंध जाते हैं। अनुपमा का कन्यादान लीला और हसमुक करते हैं। परितोष, पाखी और समर ‘मम्मीदान’ की रस्म निभाते हैं। वनराज भावुक हो जाते हैं। अनुज, और अनुपमा शादी के चक्कर लगाते हैं। अनुपमा का सिंदूर समर के पास गिरने वाला था, वनराज समय आने पर सिंदूर पकड़ लेता है। वह दूसरों से चिंता न करने के लिए कहते हैं क्योंकि सब कुछ सही होगा। अनुपमा ने हाँ में सिर हिलाया। अनुज ने अनुपमा के सिरों को भर दिया। अनुपमा और अनुज का विवाह संपन्न हुआ। दोनों पति-पत्नी बनकर खुश हो जाते हैं। वनराज स्तब्ध रह गया। लीला इस बात से परेशान हो जाती है कि अनुपमा के जाने के बाद वह किससे लड़ेगी, उसे छोड़ देगी। उसे अतीत में अनुपमा को डांटने का पछतावा है। [एपिसोड समाप्त]

प्रीकैप: अनुपमा और अनुज को शाह की विदाई। वनराज भी हिस्सा लेता है।

Leave a Comment